कृषि सखी क्या है? 2024 में कृषि सखी बनकर कमाएं ₹7000 महिना

कृषि सखी क्या है?
कृषि सखी क्या है? 2024 में कृषि सखी बनकर कमाएं ₹7000 महिना

 

कृषि सखी क्या है? कृषि सखी आजीविका मिशन के द्वारा चयन किया गया प्रतिनिधि जो कृषि जागरूक संबंधित कार्य करती है। चलिए आगे जानते हैं की कृषि सखी क्या है? What is Krishi Sakhi Yojana in Hindi?

सरकार की एक पहल के अनुसार ग्रामीण महिलाओं को रोजगार देने के लिए पंचायत स्तर पर या गांव में संचालित स्वयं सहायता समूह के माध्यम से महिलाओं को रोजगार देने की काम कर रही है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में पढ़ी लिखी महिला शहरों की महिलाओं की तरह जागरूक और पैसे कमाने के लिए जागरूक बन सकें साथ ही वे अपने और परिवार के साथ गांव पंचायत की भला कर सके। आइए जानते हैं कि कृषि सखी क्या है? कृषि सखी का वेतन और आवेदन प्रक्रिया को समझते हैं। Krishi Sakhi Kya Hai?

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कृषि सखी क्या है?

कृषि सखी एक स्वयं सहायता समूह के द्वारा चयन की गई प्रतिनिधि है जो कृषि संबंधित आधारभूत जानकारी के साथ कृषि से जुड़े कार्य जैसे की बीजों की जानकारी, उर्वरकों की उपयोग और दिशानिर्देश देने की कार्य करेंगी। कुल मिलाकर एक शब्दों में बताया जाए की कृषि सखी क्या है? किसानों को कृषि संबंधित आधारभूत जानकारी मुहैया कराकर उनकी अच्छी फसल तैयार करने की दिशानिर्देश देने वाले प्रतिनिधि को कृषि सखी कहा जाता है।

 

कृषि सखी का आवेदन कैसे करें?

कृषि सखी का आवेदन करने के लिए सबसे पहले स्वयं सहायता समूह के माध्यम से ब्लॉक मैनेजर से संपर्क करना होगा क्योंकि इसका फॉर्म ऑफलाइन भरा जाता है इसलिए सारे प्रक्रिया ब्लॉक और स्वयं सहायता समूह के माध्यम से ही किया जाता है। राष्ट्रीय आजीविका मिशन द्वारा नियुक्त BMM जो हर ब्लॉक में होते है उनके पास ग्रामीण क्षेत्र में रिक्त कृषि सखी की पद के लिए आवेदन जमा कर सकते हैं। योग्य पाए जाने के बाद प्रशिक्षण और कार्य करने की कौशल प्रदान किया जाता है।

 

कृषि सखी कैसे बनें?

कृषि सखी का आवेदन देने के बाद इस पद से संबंधित परीक्षा देने की जरूरत होगी। परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद राष्ट्रीय आजीविका मिशन के पदाधिकारियों द्वारा सूचित कर नियुक्ति पत्र दिया जाता है। कृषि सखी बनने के बाद ₹1200 से ₹1800 रुपए मानदेय प्रतिमाह दिया जाएगा।

 

कृषि सखी बनने के लिए योग्यता

कृषि सखी का चयन स्वयं सहायता समूह के माध्यम से ही किया जाता है। कृषि सखी नौकरी स्वयं सहायता समूह के माध्यम से दिया जाता है। कृषि सखी को ग्रामीण क्षेत्र में संचालित स्वयं सहायता समूह के पढ़े लिखे सदस्य को कृषि सखी बनाया जाता है।

इच्छुक महिला को लेन देन की जानकारी के साथ डिजिटल जानकारी होना चाहिए। उन्हें अच्छे से पढ़ना लिखना ये सारे योग्यता होनी चाहिए।

 

कृषि सखी का वेतन कितना है?

आइए जानते हैं की कृषि सखी का वेतन कितना मिलता है? कृषि सखी को ₹6000 से ₹7000 रुपए प्रति माह मानदेय देने का प्रावधान है। ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य कर रहे कृषि सखी का वेतन उनके कार्य दक्षता और संविदा पर दिए जाते हैं।

 

कृषि सखी की मुख्य कार्य

कृषि सखी का क्या काम है? कृषि सखी को मूलतः महिला किसानों को सभी फसलों संबंधित बीजों की चयन और बुआई, फसल को पोषण के लिए उर्वरक देने की मात्रा, फसल की संरक्षित करने की प्रशिक्षण देना मुख्य कार्य होता है। कृषि सखी को इन सभी जानकारी प्रशिक्षण के दौरान दिया जाता है।

कृषि सखी के माध्यम से स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिला या वैसे महिलाओं को जो खेती करती हैं या करना चाहते हैं उन्हें सरकार की खेती से जुड़े योजनाओं की जानकारी देना, उन्हें वित्तीय सहायता दिलवाना कृषि सखी का कार्य होता है।

कृषि सखी के द्वारा कौन से फसल की खेती किया जाए जिससे उन्हें ज्यादा मुनाफा हो और अपने फसल को कहां बेचें जहां से उन्हें अच्छी कीमत की प्राप्ति हो ये सभी जानकारी महिला किसानों को दिया जाता है।

 

निष्कर्ष: कृषि सखी क्या है?

आशा है की आप हमारे द्वारा साझा किया गया जानकारी आपको पसंद आया होगा जिसमें जाना की कृषि सखी क्या है? कृषि सखी का वेतन कितना मिलता है? और कृषि सखी के कार्य के बारे में जानकारी प्राप्त किया। कृषि सखी से जुड़े लगभग सारे सवालों का जबाव दिया गया, नई जानकारी आने पर या किसी नियम में सुधार होने पर तुरंत अपडेट किया जाएगा, अधिक जानकारी के लिए पुनः पढ़ सकते हैं।

कृषि सखी क्या है? इससे जुड़े किसी भी प्रकार की सवाल या सुझाव है तो हमें जरूर बताएं हमें आपके प्रश्नों को हल करने में खुशी होगी।

मैं पेशे से एक Web Developer हूं, और यहां आपको Financial Tips और नए स्टार्टअप की जानकारी दिया जाएगा। Content लिखवाने के लिए संपर्क करें।

2 thoughts on “कृषि सखी क्या है? 2024 में कृषि सखी बनकर कमाएं ₹7000 महिना”

Leave a Comment